जीएसटी लागू होने के बाद सरकार को तगड़ा झटका

Market Investor — जीएसटी लागू होने के बाद सरकार को तगड़ा झटका —  जीएसटी लागू होने के बाद पहले महीने में टैक्स की वसूली से खुश सरकार को अब तगड़ा झटका लगा है। क्योंकि जुलाई के महीने में कारोबारियों ने जितना जीएसटी चुकाया उसका करीब 68 फीसदी वापस करने का दावा भी कर दिया है।

कारोबारियों ने ये दावा पुराने स्टॉक पर पहले चुकाए गए टैक्स के एवज में किया है। जुलाई में जीएसटी के तहत 95,000 करोड़ रुपये का टैक्स कलेक्शन हुआ था, और अब 95,000 करोड़ रुपये में से करीब 65,000 करोड़ रुपये रिफंड क्लेम किया गया है।

अब इस मामले में वित्त मंत्रालय ने जांच शुरू कर दी है और टैक्स अधिकारियों को छानबीन का आदेश दिया है। सरकार ने वैसे कारोबारियों की जांच करने का फैसला लिया है जिन्होंने 1 करोड़ रुपये से ज्यादा का रिफंड क्लेम किया है। कुल 162 कंपनियों ने 1 करोड़ रुपये से ज्यादा रिफंड का क्लेम किया है। बताया जा रहा है कि 20 सितंबर तक टैक्स अधिकारी रिपोर्ट देंगे।

इस तरह की संभावनाएं जताई जा रही हैं कि गलती या कंफ्यूजन से ज्यादा टैक्स क्लेम किया गया हो सकता है। दरअसल, पुराने स्टॉक पर जीएसटी चुकाने वालों को 6 महीने तक रिफंड क्लेम की छूट दी गई है। पुराने स्टॉक पर जीएसटी से पहले चुकाई गई ड्यूटी के एवज में रिफंड देने का प्रावधान किया गया है।

जीएसटी लागू होने के बाद सरकार को तगड़ा झटका | Market Investor 

3 thoughts on “जीएसटी लागू होने के बाद सरकार को तगड़ा झटका”

  1. सरकार ने 10 साल बाद अरहर, मूंग और उड़द दाल के एक्सपोर्ट पर से रोक हटा दी है। अब एपीडा में रजिस्ट्रेशन के बाद एक्सपोर्टर दाल का एक्सपोर्ट कर सकेंगे। सरकार ने प्रोसेस्ड दाल के एक्सपोर्ट की इजाजत दी है। इसका मतलब ये हुआ कि खड़ी दलहन का एक्सपोर्ट नहीं होगा बल्कि दरी हुई दाल का ही एक्सपोर्ट हो सकेगा। सरकार के इस कदम से किसानों के साथ दाल मिलों को भी फायदा होगा।

  2. कर्नाटक और मध्य प्रदेश में नई मूंग की आवक शुरू हो गई है लेकिन जोरदार उत्पादन की वजह से कीमतें एमएसपी से करीब 1,000-1,500 रुपये नीचे है। भारत से दाल एक्सपोर्ट पर साल 2006 से ही रोक थी।